Home School & College एमडीआई ने अपने वार्षिक दीक्षांत समारोह का समापन किया

एमडीआई ने अपने वार्षिक दीक्षांत समारोह का समापन किया

Today:- March – नई दिल्ली, मैनेजमेंट डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट ने हाल ही में अपने वार्षिक दीक्षांत समारोह में एमडीआई गुड़गांव के 2017-19 और एमडीआई मुर्शिदाबाद के 2016-18 और 2017-19 के बैच के स्नातक के छात्रों को विदाई दी। एमडीआई परिसर में 26 मार्च, 2019 को आयोजित किए गए दीक्षांत समारोह केंद्रीय विजिलेंस आयुक्त श्री के. वी. चौधरी की मुख्य उपस्थिति में आयोजित किया गया था।

इस समारोह में एमडीआई बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के नई शामिल सदस्यों – सुश्री प्रीता रेड्डी, अपोलो हॉस्पिटल्स लिमिटेड (एएचईएल) की वाइस चेयरमैन; श्री रजनीश कुमार, अध्यक्ष, भारतीय स्टेट बैंक; श्री टीवी मोहनदास पई, सह-संस्थापक और अध्यक्ष, आरिन कैपिटल और श्री रितेश अग्रवाल, ओयो होटल्स एंड होम्स के संस्थापक और सीईओ ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

2017-19 के बैच से, विभिन्न पोस्ट ग्रेजुएट मैनेजमेंट प्रोग्राम और 7 फेलो स्कॉलर्स के कुल 489 छात्रों को एमडीआई गुड़गांव से डिप्लोमा प्रदान किया गया। संस्थान ने मेधावी छात्रों को 23 पदक प्रदान किए। एमडीआई मुर्शिदाबाद ने अपने पीजीपीएम कार्यक्रम से 61 छात्रों को डिप्लोमा प्रदान किया, जिसमें पीजीपीएम 2016-18 बैच के 32 छात्र और पीजीपीएम 2017-19 बैच के 29 छात्र शामिल थे।

वार्षिक दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए, एमडीआई बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के अध्यक्ष डॉ. एमंदी शंकर राव ने एमडीआई गुड़गांव और एमडीआई मुर्शिदाबाद के निवर्तमान बैच के छात्रों को बधाई दी। छात्रों को अपने शब्दों से प्रेरित करते हुए, उन्होंने कहा, “दुनिया में महान बदलाव अक्सर युवा लोग अपने उत्साह और जोश के साथ लाते हैं। अब समय है, कि आप में से प्रत्येक अवसर को हाथ में लें और अपनी विरासत बनाएं।”

प्रो. (डॉ.) आत्मानंद, निदेशक (अतिरिक्त प्रभार), एमडीआई गुड़गांव और निदेशक, एमडीआई मुर्शिदाबाद ने अपने संबोधन में, संस्थानों की नई पहल, उपलब्धियों और प्रगति को साझा किया। उन्होंने कहा, “अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित बी-स्कूल के रूप में, हमने बेहतरीन प्रबंधन अभ्यासों और व्यावसायिकता के मापदंड स्थापित किए हैं। एमडीआई ने इतने सालों तक वैचारिक लीडर्स और बदलाव लाने वालों का निर्माण करने के अपने विज़न को जिया है।” छात्रों से बात करते हुए, उन्होंने आगे कहा,“एमडीआई की शिक्षा ने आपको अपने रास्ते में आने वाले अवसरों को हथियाने के लिए तैयार किया है; लेकिन केवल आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आप उन्हें भूल न जाएं।”

वर्ष 2018-19 में एमडीआई गुड़गांव में 8 ब्लूमबर्ग टर्मिनल और एमडीआई मुर्शिदाबाद में 4 ब्लूमबर्ग टर्मिनल वाली ब्लूमबर्ग फाइनेंस लैब का निर्माण किया गया।

डिप्लोमा देने के बाद, मुख्य अतिथि श्री के. वी. चौधरी, केंद्रीय विजिलेंस आयुक्त, ने कुछ सुनहरे नियमों के साथ अपना ज्ञान साझा किया। उन्होंने सलाह दी, “अपनी श्रेष्ठतम क्षमता से धर्म, अर्थ, काम का पालन करो, सत्य का अभ्यास करो, सीखते रहो- दुनिया आपके लिए उपस्थित है। समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियों की उपेक्षा न करें और नैतिक जीवन का पालन करें। शिक्षा आजीवन चलने वाली प्रक्रिया है, जांच, अथक शोध की भावना रखें और शिक्षा को एक मुक्त अनुभव के रूप में देखते रहें।”

2017-19 बैच के लिए एमडीजी गुड़गांव में पीजीपीएम, पीजीपी-आईएम और पीजीपी-एचआरएम कार्यक्रमों के लिए प्लेसमेंट भी शानदार सफल था क्योंकि कुल 106 कंपनियों ने भर्ती के लिए परिसर का दौरा किया, जिनमें से 36 कंपनियां रिक्रूटर के तौर पर पहली बार आईं। इस साल पेश किया गया उच्चतम वेतन रु. 40.79 लाख प्रति वर्ष था, जबकि औसत वेतन रु. 20.13 लाख प्रतिवर्ष था।

एमडीआई मुर्शिदाबाद ने रिकॉर्ड समय में 2017-2019 के बैच के लिए अपना अंतिम प्लेसमेंट पूरा किया और 64% अधिक रिक्रूटर्स ने सहभागिता की।

बिजनेस वर्ल्ड, बिजनेस टुडे और इंडिया टुडे जैसे प्रमुख प्रकाशनों द्वारा किए गए सर्वेक्षणों में, एमडीआई गुड़गांव को भारत के शीर्ष 5 बी-स्कूलों में स्थान दिया गया है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपने हालिया टाइम्स बी-स्कूल्स सर्वे (2019) में, एमडीआई गुड़गांव को शीर्ष निजी संस्थानों/बी-स्कूलों के तहत नंबर 1; देश के टॉप 100 बी-स्कूलों में नंबर 3 और भारत के टॉप 20 नॉर्थ बी-स्कूलों में नंबर 1 स्थान दिया है। एमडीआई गुड़गांव को प्रबंधन शिक्षा में अपने योगदान के लिए बिजनेस वर्ल्ड एजुकेशन लीडरशिप अवार्ड भी मिला है।

एमडीआई गुड़गांव के बारे में:
1973 में स्थापित, मैनेजमेंट डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट गुड़गांव, ‘ग्लोबल बिजनेस स्कूल’ बनने के विज़न के साथ भारत में एक शीर्ष रैंकिंग बिजनेस स्कूल, प्रबंधन शिक्षा, उच्च गुणवत्ता अनुसंधान, कार्यकारी विकास और वैल्यू एडेड परामर्श में उत्कृष्टता का केंद्र है। एमडीआई गुड़गांव ‘एसोसिएशन ऑफ एमबीए’ (एएमबीए) यूके द्वारा मान्यता प्राप्त पहला भारतीय और एशिया में दूसरा बिजनेस स्कूल है। विभिन्न सर्वेक्षणों ने एमडीआई गुड़गांव को देश के शीर्ष बी-स्कूलों में लगातार स्थान दिया है। संस्थान द्वारा प्रस्तुत प्रबंधन में स्नातकोत्तर कार्यक्रम अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) नई दिल्ली द्वारा प्रमाणित और मान्यता प्राप्त हैं।
Teennews1 News Desk